अमेरिका वालों ने जल्‍दबाजी में
अमेरिका वालों ने जल्‍दबाजी में

अमेरिका वालों ने जल्‍दबाजी में करप्‍ट प्रोग्रामिंग वाली मशीन इन्‍स्‍टॉल करा ली

0

नुक्‍कड़ टाइम्‍स। अमेरिका वालों को बड़ी जल्‍दी थी। उन्‍होंने भी वही मशीन इन्‍स्‍टॉल करा लिया जिसकी प्रोग्रामिंग ही करप्‍ट है। इसमें कमांड लेने वाला फीचर ही नहीं है जो किसी की सुन सके। हमारा अनुभव कह रहा है कि इसका डिफॉल्‍ट फीचर अब उनके नाक में दम कर देगा। इन्‍स्‍टॉलेशन के बाद जिस तरह से मशीन जहां तहां कील ठोक रही है उससे लगता है कि ताबूत बनते देर नहीं लगेगी।

अमेरिकी मशीन के बहुत सारे फीचर इंडियन मशीन से मिलते-जुलते हैं। लेकिन अमेरिकी मशीन में कुछ साइलेंट फीचर भी है, जो हमारी वाली में नहीं है। अमेरिकी मशीन भी बहुत जल्‍दी-जल्‍दी काम और आदमी दोनों को निपटाती है। जिस रफ्तार से वह काम कर रही है उससे तो लगता है कि 100 दिन में ही सारा काम निपटा कर बैठ जाएगी। मुझे तो डर लग रहा है कि अगर उसके पास पास काम नहीं बचा तो कहीं वो भी नोट की तरह डॉलर को निगलने न लग जाए। सुना है अमेरिकी मशीन में भी डिफॉल्‍ट Crying Feature है।

पढ़ें- ठेका लेकर ठिकाने लगा गया ठेकेदार

नई अमेरिकी मशीन पुरानी डेमोक्रेटिक मशीनरी की उसी तरह धुलाई कर रही है जैसी हमारी वाली करती है। सुना है हमारी पुरानी कांग्रैट मशीन अनुकंपा की ऑक्‍सीजन पर है। यह मुझे सुनकर अफसोस नहीं हुआ। वैसे हमारी मशीन ने तो यहां सबको सेट कर दिया है। वहां सेटिंग का काम चल रहा है। अमेरिका वालो! उसे उलझा कर ही रखना, नहीं तो सबको उलझा देगी। हमारी मशीन बहुराष्‍ट्रीय है। ग्रीसिंग और ऑयलिंग के लिए दुनियाभर भर में घूमती रहती है, लेकिन इसमें उलझाने वाले ऐसे-ऐसे फीचर हैं कि किसी ने इसमें हाथ ही नहीं लगाया।

इसलिए गुजारिश है कि हो सके तो इसका मूविंग फीचर ऑफ कर दो, क्‍योंकि ये जितना घूमेगी उतना ही रायता फैलाएगी। इसके साथ रिप्‍लेसमेंट गारंटी-वारंटी भी नहीं मिली है। अभी चार साल तक चलाओ… अगर ज्‍यादा बिगड़ गई तो रिप्‍लेस कर देना। वैसे इसकी सर्विसिंग के मौके मिलते रहेंगे। हमने तो एक साल बाद से ही इसे सर्विस सेंटर में भेजना शुरू कर दिया था। लेकिन सर्विसिंग के बाद भी समस्‍या जस की तस बनी रही। फिलहाल हमारे यहां तो पांच सर्विसिंग सेंटर काम कर रहे हैं। इसे फिर से सर्विस सेंटर में भेजा जा रहा है, देखते हैं मरम्‍मत और अच्‍छी सर्विसिंग कहां होती है।

Image courtesy: Painting by California artist Mark Bryan called “Trump-O-Matic”

Share.

Leave A Reply

Powered by virtualconcept.in