बिलकिस बानो केस में बॉम्बे HC ने 12
बिलकिस बानो केस में बॉम्बे HC ने 12

बिलकिस बानो केस में बॉम्बे HC ने 12 दोषियों की उम्रकैद की सजा बरकरार रखी

0

बिलकिस बानो रेप एंड मर्डर केस में बॉम्बे हाईकोर्ट ने 12 दोषियों की अपील खारिज कर दी। कोर्ट ने इन दोषियों की उम्रकैद की सजा बरकरार रखी है। इस मामले में 6 पुलिसवालों को सबूत मिटाने का दोषी पाया है ,11 दोषियों की उम्रकैद की सजा को बरकरार रखा गया है। वहीं, उन्हें फांसी दिए जाने की मांग को खारिज कर दिया है।

तीन मार्च 2002 को गुजरात के दाहोद जिल के देवगड़ बरिया गांव में गोधरा ट्रेन केस के बाद बिलकिस बानो सहित 17 लोगों पर भीड़ ने हमला कर दिया था। इस दौरान 8 लोगों की हत्या कर दी गई थी। उस वक्त 19 साल की रहीं बिलकिस बानो 5 महीने की प्रेगनेंट थीं। उनके साथ गैंगरेप किया गया। बिलकिस की 3 साल की बेटी और दो दिन के बच्चे की भी मौत हो गई थी। इसके बाद से बिलकिस अपने परिवार के दो सदस्य हुसैन और सद्दाम के साथ न्याय के लिए संघर्ष कर रही हैं।

21 जनवरी, 2008 को मुंबई की कोर्ट ने 11 लोगों को मर्डर और गैंगरेप का आरोपी माना था. जिसके बाद ट्रायल कोर्ट की ओर से सभी को उम्रकैद की सजा दी गई थी। जिसके बाद सभी आरोपियों ने बॉम्बे हाईकोर्ट में फैसले के खिलाफ अपील की थी।

Share.

Leave A Reply

Powered by virtualconcept.in