GBU-43 दुनिया का सबसे बड़ा बम
GBU-43 दुनिया का सबसे बड़ा बम

GBU-43 दुनिया का सबसे बड़ा बम

0

अफगानिस्तान में ISIS के आतंकियों पर अमेरिका ने अब तक का सबसे बड़ा प्रहार किया है। अमेरिका ने पूर्वी अफगानिस्तान के नंगरहार में अपना सबसे बड़ा नॉन-न्यूक्लियर बम ‘GBU-43’ गिराया है। अमेरिका ने जो बम GBU-43 अफगानिस्तान पर गिराया है, वो इतना खतरनाक है कि उसके सवा तीन किलोमीटर के दायरे में सब कुछ खाक हो जाएगा। अमेरिका ने आईएसआईएस पर ये हमला अफगानिस्तान में पाकिस्तान बॉर्डर से 60 किलोमीटर की दूरी पर स्थित नंगरहार में आईएक के ठिकाने को निशाना बनाकर किया है।

अमेरिका के रक्षा मंत्रालय ने आधिकारिक रूप से इस बात की पुष्टि की है कि उसने पूर्वी अफगानिस्तान में मौजूद इस्लामिक स्टेट के आतंकियों के ठिकानों पर सबसे बड़ा और खतरनाक GBU-43 बम गिराया है। इस बम को सबसे शक्तिशाली बम बताया जाता है। पेंटागन के प्रवक्ता ने बताया कि पहली बार इस बम का प्रयोग किया गया है और इसे MC-130 एयरक्राफ्ट से गिराया गया। मार्च 2003 में इराक युद्ध शुरू होने से पहले अमेरिका ने जीपीएस से संचालित इस बम का परीक्षण किया था।

21600 पौंड वजनी (तकरीबन 10 हजार किलो) इस बम का नाम GBU-43 है. इसे मदर ऑफ आल बम भी कहा जाता है। इस तरह का बम पूरी दुनिया में सिर्फ 15 है। सवा तीन किलोमीटर के दायरे में यह सब कुछ खाक कर देता है। यह बम जीपीएस से संचालित होता है। ऐसे में इसके निशाना चूकने का कोई सवाल ही नहीं। GBU-43 बम से 11 टन TNT के बराबर धमाका होता है। इस बम को बनाने में तकरीबन दो हज़ार करोड़ रुपये का खर्च आता है।

Share.

Leave A Reply

Powered by virtualconcept.in