इन चीज़ों से भगवान् शिव हो सकते हैं
इन चीज़ों से भगवान् शिव हो सकते हैं

इन चीज़ों से भगवान् शिव हो सकते हैं नाराज़

0

देवों के देव महादेव अपने भक्तों की प्रार्थना बहुत जल्दी सुनते हैं अगर सच्चे मन से प्रार्थना की गयी हो तो। लेकिन कुछ सावधानियां भी बरतनी जरुरी है भगवन शिव की पूजा करते समय अन्यथा भगवान शिव  नाराज़ भी हो सकते हैं।  आइये आपको बताते हैं की किन सावधानियों का ध्यान रखना चाहिए भगवान् शिव की पूजा करते समय

lord-shiva1_nukkadtimes

  1. तुलसी का पत्ता : ऐसा माना जाता है कि तुलसी भगवान् विष्णु की पत्नी हैं। इसलिए तुलसी के पत्ते भगवान् शिव की पूजा करते समय नहीं चढाने चाहिए।
  2. कुमकुम : कुमकुम स्त्रियों के सौभाग्य का प्रतीक है। शिव बैरागी हैं। इसलिए कभी भी शिव पर कुमकुम न चढ़ाएं।
  3. टूटा हुआ चावल: टूटा हुआ चावल अपूर्ण और अशुद्ध होता है, इसल‌िए यह श‌िव जी को नहीं चढ़ता। भगवान श‌िव को अक्षत यानी साबूत चावल अर्प‌ित करना चाहिए।
  4. तिल या तिल से बनी कोई वस्तु न चढ़ाएं: यह भगवान व‌िष्‍णु के मैल से उत्पन्न हुआ मान जाता है, इसल‌िए इसे भगवान श‌िव को नहीं अर्प‌ित क‌िया जाना चाह‌िए।
  5. हल्दी और नारियल का पानी: हल्दी का संबंध भगवान व‌िष्‍णु और सौभाग्य से है, इसल‌िए यह भगवान श‌िव को नहीं चढ़ता है और नारियल को मां लक्ष्मी का प्रतीक माना जाता है, इसलिए शिव जी को अर्पित नहीं की जाती।
  6. शंख से न चढ़ाएं जल: भगवान श‌िव ने शंखचूड़ नाम के असुर का वध क‌िया था। शंख को उसी असुर का प्रतीक माना जाता है। जो भगवान व‌िष्‍णु का भक्त था। इसल‌िए व‌िष्णु भगवान की पूजा शंख से होती है, श‌िव की नहीं।

ऐसी छोटी छोटी सावधानियों का ध्यान रखकर आप अपने जीवन में शिव का आशीर्वाद प्राप्त कर सकते हैं।

Share.

Leave A Reply

Powered by virtualconcept.in