चैन की नींद चाहते हैं तो मेटल बेड से
चैन की नींद चाहते हैं तो मेटल बेड से

चैन की नींद चाहते हैं तो मेटल बेड से परहेज करें

1

नुक्‍कड़ टाइम्‍स

बेडरूम में बेड एक महत्‍वपूर्ण वस्‍तु है, क्‍योंकि यह सिर्फ सोने के ही काम नहीं आता है। इसलिए नींद अच्‍छी और तनाव नहीं चाहते हैं तो तो बेड वास्‍तु के अनुसार ही बनवाएं। दरअसल बेड नकारात्‍मक और सकारात्‍मक ऊर्जा से घिरा रहता है। नकारात्‍मक ऊर्जा के प्रभाव में आने पर तनाव और चिंता हो सकती है। सामान्‍यतया मेटल बेड या बेड के नीचे मेटल या चमड़ा रखने से बेड के चारों ओर नकारात्‍मक ऊर्जा तैयार होने लगती है।

इसके अलावा, दक्षिण या पूर्व में सिर करके सोना सबसे अच्‍छा होता है। दक्षिण में सिर करके सोने से अच्‍छी और गहरी नींद आती है तथा व्‍यक्ति दीघायु भी होता है। पूर्व सिर करके सोने से ज्ञान की प्राप्ति होती है। ध्‍यान रहे सिर की तरफ खिड़की नहीं होनी चाहिए। सिर पश्चिम की तरफ भी हो तो ठीक, लेकिन उत्‍तर में कभी नहीं रखना चाहिए। साथ ही, इन बातों का ध्‍यान रखेंगे तो आप खुशहाल रहेंगे –

  1. बेड हमेशा अनियमित आकार वाला ही खरीदना चाहिए। बेड दरवाजे के सामने कतई न हो।
  2. बेड लकड़ी का हो, रॉट आयरन वाले बेड का इस्‍तेमाल नहीं करना चाहिए। बेड दरवाजे के सामने बेड कतई नहीं रखें।
  3. बेड दक्षिण/पश्चिम दीवार की तरफ होना चाहिए। यदि यह संभव नहीं हो तो इसे दीवार से कम से कम चार फीट दूर रखें।
  4. इलेक्‍ट्रॉनिक गैजेट्स बेड से दूर रखें, क्‍योंकि इनसे इलेक्‍ट्रो मैग्‍नेटिक तरंगें निकलती हैं जो नींद में बाधा डालती है।
  5. अगर डबल बेड है तो उस पर सिंगल-सिंगल दो मैट्रेस बिछाएं।
  6. सामान अंदर रखने वाले बॉक्‍स बेड की जगह साधारण बेड का ही इस्‍तेमाल करें। अगर बेड में समान रखने की जगह हो भी तो इसमें मेटल या चमड़े के सामान नहीं रखें।
  7. बेडरूम के दरवाजे खोलते और बंद करते समय किसी तरह की आवाज नहीं आनी चाहिए।
  8. बेड से भी किसी तरह की आवाज नहीं आनी चाहिए। कभी-कभी थोड़ा सा हिलने-डुलने पर भी इसमें से आवाजें आने लगती हैं।
  9. बेड जमीन से कभी छूना नहीं चाहिए। साथ ही यह भी सुनिश्चित करें कि यह दीवार से कम से कम तीन इंच की दूरी पर हो।
  10. कोशिश करें कि बेड में आईना या शीशा नहीं लगा हो। इसके हेडबोर्ड में कोई कबाड़ धातु भी नहीं होना चाहिए।
Share.

1 Comment

Leave A Reply

Powered by virtualconcept.in