प्‍लॉट खरीदते समय 10 बातों का ध्‍यान
प्‍लॉट खरीदते समय 10 बातों का ध्‍यान

प्‍लॉट खरीदते समय 10 बातों का ध्‍यान रखेंगे तो खुशहाल रहेंगे

1

वास्‍तु

नुक्‍कड़ टाइम्‍स

घर या दफ्तर बनाने के लिए अगर प्‍लॉट या जमीन खरीद रहे हैं तो कुछ महत्‍वपूर्ण बातों का ध्‍यान जरूर रखें। जैसे प्‍लॉट का आकार, मिट्टी का रंग, प्‍लॉट की दिशा ओर आसपास का माहौल कैसा है। अगर नकारात्‍मक ऊर्जा को दूर रखना चाहते हैं तो यह सब देखने और जानने के बाद ही जमीन खरीदें। ऐसा न हो कि पैसा खर्च करके आप शारीरिक और आर्थिक परेशानियां तो मोल ले लें। इसलिए वास्‍तु के हिसाब से हम कुछ जरूरी बातें बता रहे हैं, जो आपके लिए फायदेमंद हो सकती हैं।

  1. यदि जमीन के आसपास ऊंची-ऊंची इमारतें हों या इसके उत्तर-पूर्व में सामने मंदिर हो तो उसे न खरीदें। इससे आर्थिक नुकसान होगा। लाचारी में प्‍लॉट लेना भी पड़े तो यह सुनिश्चित कर लें कि जमीन पर इनकी परछाई नहीं पड़ती हो। यह मंदिर करीब 100 फीट दूर हो और इसका रास्‍ता मंदिर की तरफ नहीं हो।
  2. जमीन समतल हो और सड़क से ऊंची हो। अगर यह सड़क से नीची हो या पड़ोस की जमीन इससे ऊंची हो तो इसे नहीं खरीदें। अगर प्‍लॉट के आगे, पीछे या बगल में कब्रिस्‍तान/श्‍मशान/समाधि हो तो इसे छोड़ दें।
  3. प्‍लॉट टेढ़ा-मेढ़ा हो तो इरादा छोड़ दें। वर्गाकार या आयताकार प्‍लॉट अच्‍छा माना जाता है। इसके अलावा यह भी देख लें कि इसमें दरारें नहीं हो।
  4. जिस जमीन की लंबाई पूरब या पश्चिम में ज्‍यादा हो उसे खरीदना अच्‍छा होता है। वास्‍तु के हिसाब से उत्तरी दिशा के मुकाबले दक्षिण में ज्‍यादा खुली जगह होने इसे खरीदना मुनासिब नहीं होता, क्‍योंकि इससे किसी तरह का नुकसान हो सकता है।
  5. यदि मुख्‍य रास्‍ता प्‍लॉट के पश्चिम मध्‍य या उत्‍तरी हिस्‍से में हो तो इसे खरीदें। इसका मुंह पश्चिम दिशा में हो तो नहीं खरीदें। आसपास स्‍कूल, कॉलेज, सिनेमा हॉल, मीट शॉप, वर्कशॉप, जूते की दुकान और लाउंड्री हो तब भी नहीं खरीदें।
  6. अगर प्‍लॉट के हर ओर सड़क हो तो यह शुभकारी होता है। बेहतर होगा कि अपने पेशे के हिसाब से ही प्‍लॉट चुनें। मसलन, पूर्व की तरफ मुंह वाली जमीन शिक्षक/प्रोफेसर, दार्शनिक, स्‍कॉलर और पुजारियों के लिए शुभ होता है। सरकारी कर्मचारियों, किसी कंपनी के प्रशासनिक कार्य से जुड़े व्‍यक्ति के लिए उत्‍तरमुखी प्‍लॉट शुभ होता है। अगर व्‍यापारी हैं, तो दक्षिणमुखी और सेवा प्रदाता के लिए पश्चिममुखी प्‍लॉट शुभकारी होता है।
  7. यदि जमीन उपजाऊ है और इसके चारों ओर हरियाली है तो वह अत्‍यंत शुभकारी होती है।
  8. प्‍लॉट के पास खंभा, बिजली का ट्रांसफॉर्मर या उत्‍तर-पूर्व की तरफ पावर सप्‍लाई स्‍टेशन नहीं हो। पड़ोस की छत से बारिश का पानी जिस प्‍लॉट पर गिरे उसे नहीं खरीदना चाहिए।
  9. उस प्‍लॉट को भी न खरीदें जिसके पश्चिम या दक्षिण की ओर नदी या नहर हो। इसके आसपास बड़ा गड्ढा नहीं हो। यदि दो बड़े प्‍लॉट के बीच स्थित हो तो भी अच्‍छा नहीं होता, क्‍योंकि यह गरीबी लाता है। यदि प्‍लॉट के उत्‍तर-पूर्व की तरफ कुआं, स्‍वीमिंग पूल, झील, नदी या पानी का कोई स्रोत हो तो वह शुभकारी होता है।
  10. उत्‍तर पश्चिम की तरफ ऊंची इमारत नहीं हो, क्‍योंकि ऐसी जमीन खरीदने पर आपकी मानसिक शांति खत्‍म हो सकती है। यदि प्‍लॉट के दक्षिण, दक्षिण पश्चिम या पश्चिमी दिशा में ऊंची इमारत हो तो इसे खरीदा जा सकता है।
Share.

1 Comment

Leave A Reply

Powered by virtualconcept.in