बेडरूम कैसा होना चाहिए
बेडरूम कैसा होना चाहिए

बेडरूम कैसा होना चाहिए

0

वास्‍तु

नुक्‍कड़ टाइम्‍स

घर अगर वास्‍तु के हिसाब से आपके घर में शांति और समृद्धि आएगी। अगर कोई भी कोना वास्‍तु के हिसाब से नहीं है तो उसके दुष्‍प्रभाव घरवालों को झेलने पड़ते हैं। वास्‍तु शास्‍त्र वातावरण से उत्‍पन्‍न होने वाली विभिन्‍न तरह की ऊर्जाओं पर निर्भर करता है। इसलिए घर, दफ्तर या किसी भी जगह को वास्‍तु के लिहाज से ही सजाना चाहिए ताकि प्रकृति के पांच तत्‍वों का फायदा मिले। यानी स्‍वास्‍थ्‍य, समृद्धि, धन और खुशी में निरंतर इजाफा हो।

पूर्व दिशा के स्‍वामी सूर्य हैं, इसलिए बच्‍चों के लिए बेडरूम इस दिशा में अच्‍छा होता है। बच्‍चे मतलब जिनकी शादी नहीं हुई हो।

पश्चिम दिशा के स्‍वामी वरुण होते हैं। यानी इस दिशा में बेडरूम विद्यार्थियों के लिए अच्‍छा होता है। हालांकि परिवार में ज्‍यादा लड़कियों के जन्‍म लेने की संभावना बढ़ जाती है।

उत्‍तर दिशा नवदंपति के लिए अच्‍छा होता है, क्‍योंकि इस दिशा के स्‍वामी कुबेर हैं। इसलिए कीमती सामान, जरूरी कागजात, आभूषण और कैश इसी दिशा में रखना अच्‍छा होता है।

दक्षिण दिशा यम का होता है, इसलिए उस तरफ मास्‍टर बेडरूम बनाना अच्‍छा होता है। इसमें घर के मुखिया को रहना चाहिए। साथ ही, यह अन्‍य कमरों से बड़ा भी हो। अगर घर बहुमंजिला है तो यह कमरा हमेशा सबसे ऊपरी मंजिल पर होना चाहिए।

दक्षिण-पूर्व के देवता अग्नि हैं, इसलिए इस दिशा में बेडरूम नहीं होना चाहिए। यदि ऐसा है तो पति-पत्‍नी के बीच झगड़े होंगे और खर्च भी अधिक होगा। बच्‍चों का मन पढ़ाई में नहीं लगेगा और गहरी नींद भी नहीं आएगी।

उत्‍तर-पूर्व दिशा में तो भूलकर भी बेडरूम नहीं बनाना चाहिए, क्‍योंकि इस दिशा में शिव का वास होता है। यह स्‍थान पूजा घर के लिए अच्‍छा होता है।

मास्‍टर बेडरूम हमेशा दक्षिण-पश्चिम दिशा में होना चाहिए। यह दिशा भू तत्‍व का प्रतिनिधित्‍व करती है। यह चिल्‍ड्रन रूम, गेस्‍ट रूम, सर्वेंट रूम और किसी भी तरह के रूम के लिए अच्‍छा नहीं होता।

उत्‍तर-पश्चिम दिशा के स्‍वामी वायु होते हैं। इस दिशा में बना बेडरूम नवविवाहित दंपति के लिए अच्‍छा होता है।

बेडरूम अगर दक्षिण-पूर्व दिशा में है तो उसे तत्‍काल दक्षिण, दक्षिण-पश्चिम, पश्च्मि या उत्‍तर-पश्चिम में बने किसी दूसरे कमरे से बदल लें। अगर इस दिशा में बेडरूम रखते हैं तो अंगारों पर ही सोते रहेंगे। अगर बेडरूम बदलना संभव नहीं हो तो बेड दक्षिण-पूर्व कोने में नहीं रखें। साथ ही, सोते समय सिर दक्षिण और पैर उत्‍तर की ओर रखें ताकि वास्‍तु दोष का प्रभाव खत्‍म हों।

बेडरूम में आईना नहीं रखना चाहिए, क्‍योंकि इससे पति-पत्‍नी में मतभेद होते हैं और झगड़े होते हैं। अगर जरूरी हो तो इसे उत्‍तर-पूर्व दीवार पर ही लगाएं।

बेडरूम की दीवारों को आकर्षक परदों और तस्‍वीरों से सजा सकते हैं। सुबह में आंख खुलने पर सामने आकर्षक दृश्‍यों को देखकर अच्‍छा लगेगा।

बेडरूम में भारी भरकम चीजें जैसे बेड, अलमारी आदि होते हैं। इन्‍हें कमरे के दक्षिण, दक्षिण-पश्चिम या पश्चिम दीवार की तरफ रखें। कमरे के बीच में बेड नहीं रखें। बेड के ऊपर बीम नहीं होना चाहिए। यदि बीम है तो तुरंत कोई उपाय करें अन्‍यथा स्‍वास्‍थ्‍य प्रभावित होगा।

Share.

Leave A Reply

Powered by virtualconcept.in