अंसल को बाकी बची सजा काटनी होगी
अंसल को बाकी बची सजा काटनी होगी

अंसल को बाकी बची सजा काटनी होगी

0

सुप्रीम कोर्ट ने उपहार कांड में आज अपना फैसला सुनते हुए गोपाल अंसल की सजा को काम करने से इनकार कर दिया। सुप्रीम कोर्ट ने 4 हफ़्तों के भीतर आत्मसमर्पण का आदेश भी जारी किया है। 1 साल की मिली सजा में गोपाल अंसल लगभग 5 महीने  की सजा काट चुके हैं। बाकी बची सजा अब उन्हीं काटनी होगी। 13 जून, 1997 को दिल्ली के उपहार सिनेमा हॉल में आग लग गई थी जिसमें 23 बच्चों समेत 59 लोगों की जान चली गई थी।

ansalbrothers_nukkadtimesसुप्रीम कोर्ट ने उस पुनर्विचार याचिका को खारिज़ कर दिया जिसमें बंसल  के उम्र का हवाला देते हुए उनकी सजा को माफ़ करने की गुज़ारिश की गयी थी। सुप्रीम कोर्ट की 3 सदस्यीय बेंच के दो जज अंसल की सजा घटाने के खिलाफ थे। अब बाकी बची सजा बंसल को जेल में काटनी पड़ेगी।
सुप्रीम कोर्ट ने अंसल बंधुओं गोपाल और सुशील अंसल को लापरवाही का दोषी करार देते हुए जेल की सजा सुनाई थी  जिसके खिलाफ इससे पहले दायर याचिका पर सुनवाई के दौरान कोर्ट ने अंसल बंधुओं को 60 करोड़ रुपये का जुर्माना अदा कर सजा से बच निकलने की अनुमति दी थी। हालांकि आज जो आदेश सुप्रीम कोर्ट की तरफ से जारी हुआ है उसमें 60 करोड़ रूपये के साथ साथ एक साल  की सजा का आदेश है।

कोर्ट के इस फैसले से वादी पक्ष एवीयूटी की एन कृष्णामूर्ति खुश नहीं हैं।  उन्होंने इस आदेश पर अंसतोष जताते हुए कहा कि इस फैसले से यही पता चलता है कि अमीरों के पास विशेष अधिकार होते हैं। वे बच्चों को मारकर भी बस ट्रॉमा सेंटर के लिए पैसे देकर आजाद घूम सकते हैं। जिस दिन मेरे बच्चे मरे थे, मुझे उसी इन लोगों को गोली मार देनी चाहिए थी।

image courtesy: The Hindu

Share.

Leave A Reply

Powered by virtualconcept.in