गौ रक्षा और भीड़ तंत्र
गौ रक्षा और भीड़ तंत्र

गौ रक्षा और भीड़ तंत्र

0

झारखंड में मंगलवार और गुरुवार को दो अलग-अलग घटनाएं हुईं। एक में झारखंड पुलिस की सक्रियता के कारण सुलेमान नाम के व्यक्ति की जान बच गई। वहीं गुरुवार को रामगढ़ में असगर अली की पीट-पीटकर हत्या कर दी गई। असगर अली पर आरोप लगाया गया कि वह गाय के मांस का कारोबार करता था। मुख्यमंत्री रघुबर दास और पुलिस के बयान के बाद किसी भी आरोपी को बक्शा नहीं जाएगा। असगर अली की मौत के सिलसिले में उनकी विधवा ने प्राथमिकी दर्ज कराई है। स्थानीय बजरंग दल, गोरक्षा समिति या स्थानीय भारतीय जनता पार्टी के नेताओं के नाम इसमें शामिल हैं।  इसके बाद पुलिस गिरफ्तारी और कानूनी कर्रवाई में कोई कसर नहीं छोड़ रही, लेकिन सवाल है कि झारखंड में हिंसा का दौर क्यों नहीं रुक रहा ?

रघुबर दास की राज्य में अधिकांश मीट-मछली बेचने वाले बेकार बैठे हैं, क्योंकि उनके पास लाइसेंस नहीं हैं। सरकार लाइसेंस वाली दुकानें पर्याप्त संख्या में नहीं खुलवा सकी क्योंकि उसके पास पर्याप्त संख्या में पशु चिकित्सक नहीं हैं। जहां तक गाय के मांस की खरीद-बिक्री का सवाल है, इस पर प्रतिबंध है और सरकार इसके प्रति गंभीर भी है, लेकिन इस प्रतिबंध को लागू करने के लिए सरकारी मशीनरी, मतलब पुलिस से ज्यादा बीजेपी और उनके सहयोगी संगठनों के लोग सक्रिय हैं। इसका परिणाम यह है कि लोगों को कभी गाय का व्यापार या कभी मांस की दुकान चलाने के नाम पर पिटाई और हत्या एक आम बात होती जा रही है।

हालांकि हाल की घटना के बाद रघुबर दास सरकार एक तरह से जगी है और पुलिस को उसने सीधी और कड़ी कर्रवाई करने की खुली छूट दी है। शायद यह एक बड़ा कारण है कि रामगढ़ की घटना से सम्बंधित अब बीजेपी के नेता भी गिरफ्तार हो रहे हैं, लेकिन इसके लिए पार्टी की फजीहत भी हो रही है। झारखंड सरकार ने रामगढ़ की घटना के बाद स्पीडी ट्रायल का आश्वासन दिया है, लेकिन सरकार अगर अपनी घोषणा पर अमल करने में विफल रही तब न केवल सरकार का इकबाल कम होगा, बल्कि घटना के दबाब में दिए जाने वाले बयानों की भी गंभीरता खत्म हो जाएगा।  हालांकि पुलिस अधिकारी दबी जुबान से मांग कर रहे हैं कि दास पहले अपनी पार्टी के नेताओं और कार्यकर्ताओं को एक बार चेतावनी दे देते तब शायद उनके लिए काम आसान हो जाएगा, लेकिन गौरक्षा के नाम पर लगे लोग शायद ही इतनी आसानी से सुनने वाले हैं, क्योंकि यह आमदनी का एक नया जरिया हो गया है।

Share.

Leave A Reply

Powered by virtualconcept.in