व्यापम केस पर सुप्रीम कोर्ट का बड़ा
व्यापम केस पर सुप्रीम कोर्ट का बड़ा

व्यापम केस पर सुप्रीम कोर्ट का बड़ा फैसला

0

बहुचर्चित मध्य प्रदेश व्यापम घोटाले में सुप्रीम कोर्ट की तरफ से बड़ा फैसला आया है जिसके तहत लगभग 500 छात्रों की एडमिशन प्रक्रिया रद्द कर दी गयी है। सुप्रीम कोर्ट ने एडमिशन को नियमों के विरुद्ध मानते हुए 2008 से 2012 के बीच एमबीबीएस कोर्स में एडमिशन को रद्द कर दिया।

cbi_nukkadtimesहाल ही में सीबीआई ने इस घोटाले से जुडे़ 125 में से 80 आरोपियों को गिरफ्तार किया है। सीबीआई के पास इन मुन्नाभाइयों की सिर्फ तस्वीरें थीं। सीबीआई की मानें तो इनमें से कई तस्वीरों के साथ छेड़छाड़ भी की गई थी। जिसके बाद केस को वर्कआउट करने के लिए सीबीआई ने अमेरिकी खुफिया एजेंसी की मदद ली थी।

पीएमटी के तहत एमबीबीएस, बीडीएस जैसे कोर्स में हुए एडमिशंस के अलावा पुलिस, एक्साइज, रेवेन्यू और एजुकेशन डिपार्टमेंट में 2007 से 2013 के बीच 1 लाख से ज्यादा पोस्ट पर हुई भर्ती इस घोटाले की जांच में शामिल है। कांग्रेस का आरोप है कि व्यापमं घोटाले में 40 से ज्यादा मौतें हुई हैं। सरकारी आंकड़ा 27 मौतों का था। इनमें से 14 मौतें संदिग्ध हालात या बीमारी के कारण हुईं। जबकि 10 लोगों की जान सड़क हादसों के कारण हुई। 3 लोगों ने सुसाइड किया।

जुलाई 2013 में यह घोटाला बड़े रूप में तब सामने आया जब इंदौर क्राइम ब्रांच ने डॉ. जगदीश सगर की गिरफ्तारी की। उसे मुंबई के पॉश होटल से गिरफ्तार किया गया था। उसके इंदौर स्थित घर से कई करोड़ रुपए का कैश बरामद हुआ था। पुलिस के मुताबिक, एमबीबीएस डिग्री रखने वाले सगर ने पूछताछ में कबूल किया कि उसने 3 साल के दौरान 100 से 150 स्टूडेंट्स को मेडिकल कोर्स में गलत तरीके से एडमिशन दिलाया था।

Share.

Leave A Reply

Powered by virtualconcept.in