शशिकला : अब तो जेल जाना पड़ेगा
शशिकला : अब तो जेल जाना पड़ेगा

शशिकला : अब तो जेल जाना पड़ेगा

0

ख्वाब शीशे के दुनिया पत्थर की : बेहिसाब संपत्ति के मामले में शशिकला को सुप्रीम कोर्ट ने झटका दे दिया। अन्नाद्रमुक महासचिव वीके शशिकला आय से अधिक संपत्ति के मामले दोषी पाई गई हैं। मंगलवार को सुप्रीम कोर्ट ने अपने फैसले में उन्हें दोषी पाया। इस मामले में कर्नाटक हाईकोर्ट से बरी होने के बाद राज्य सरकार ने अपील की थी। शशिकला को चार साल की सजा हुई है। 21 साल से ये मामला चल रहा था।

सजा सुनाए जाने के बाद शशिकला अब लोक प्रतिनिधित्व अधिनियम के तहत मुख्यमंत्री बनने और जेल से रिहाई की तारीख से अगले छह साल के लिए चुनाव लड़ने के लिए अयोग्य हो गईं।  शशिकला को साढ़े तीन साल जेल में गुजारने होंगे। 6 महीने की सजा वे काट चुकी हैं। फैसले के साथ ही शशिकला का पॉलिटिकल करियर एक तरह से खत्म हो गया है। 4 साल की सजा के बाद वे 6 साल तक चुनाव नहीं लड़ पाएंगी। इसी केस में कर्नाटक हाईकोर्ट ने शशिकला और जयललिता को 2015 में बरी कर दिया था।


इस केस में जयललिता, शशिकला और उनके दो रिश्तेदार वीएन सुधाकरन, इलावरसी समेत 4 लोग शामिल हैं। इस मामले की सुनवाई तमिलनाडु के बाहर बेंगलुरु की स्पेशल कोर्ट में हुई। इस कोर्ट ने 27 सितंबर 2014 को जयललिता, शशिकला और दो अन्य बेहिसाब प्रॉपर्टी रखने के मामले में दोषी करार दिया। शशिकला और उनके रिश्तेदारों पर 10 करोड़ और जयललिता पर 100 करोड़ का जुर्माना भी लगाया था।

कर्नाटक हाईकोर्ट ने पिछले साल इस मामले में जयललिता और शशिकला को बरी किया था। कोर्ट ने कहा था- जयललिता के पास इनकम से 8.12% संपत्ति थी. यह 10% से कम है जो मान्य है। आंध्र प्रदेश सरकार तो इनकम से 20% ज्यादा प्रॉपर्टी होने पर भी उसे जायज मानती है, क्योंकि कई बार हिसाब बढ़ा-चढ़ा कर पेश किया जाता है। जो संपत्ति खरीदी गईं, उसके लिए आरोपियों ने नेशनलाइज्ड बैंकों से बड़ा कर्ज लिया था। लोअर कोर्ट ने इस पर विचार नहीं किया। यह भी साबित नहीं होता कि इमूवेबल प्रॉपर्टी काली कमाई से खरीदी गईं। निचली अदालत का फैसला कमजोर था।

Share.

Leave A Reply

Powered by virtualconcept.in