हजारीबाग की रामनवमी फिर चर्चा में
हजारीबाग की रामनवमी फिर चर्चा में

हजारीबाग की रामनवमी फिर चर्चा में

0

हजारीबाग : हजारीबाग के बड़कागांव में एक रामनवमी जुलूस में शामिल होने जा रहे भाजपा विधायक मनीष जायसवाल के बाद पूर्व केंद्रीय मंत्री व वरिष्ठ भाजपा नेता यशवंत सिन्हा को भी पुलिस ने हिरासत में ले लिया। उन्हें दिन के 12 बजे के आसपास पुलिस ने हिरासत में लिया, जबकि जायसवाल सुबह ही हिरासत में लिये जा चुके थे।  यशवंत सिन्हा के साथ भाजपा जिला अध्यक्ष टुन्नू गोप को भी हिरासत में लिया गया है। यशवंत सिन्हा अपने समर्थकों के साथ बड़कागांव के मोहदी गांव के राणा टोला में डटे हुए थे। सिन्हा रात दो बजे ही मोहदी गांव पहुंचे थे। मोहदी गांव के राणा टोला से रामनवमी जुलूस निकलता और आगे रास्ते में बैरिकेट लगा कर उसे रोक दिया गया है। इसी बैरिकेट को हटाने की मांग व जुलूस में शामिल होने के लिए सिन्हा यहां पहुंचे थे। पुलिस व ग्रामीणों के बीच इस मुद्दे पर घंटों बातचीत चली और अंत में सिन्हा को हिरासत में लिये जाने की कार्रवाई की गयी। मनीष जायसवाल को हिरासत में लिये जाने की पुष्टि सुबह ही बड़कागांव की बीडीओ अलका कुमारी ने की थी।

रामनवमी के मौके पर अष्टमी, नवमी एवं दशमी को कोयरी टोला रामनवमी अखाड़ा समिति एवं गड़वा टोला रामनवमी अखाड़ा समिति की ओर से जुलूस निकाला जाता है। गांव में 1984 से सरकार व प्रशासन की पहल पर एक व्यवस्था बनी है। दोनों संप्रदाय के लोग एक-दूसरे के टोले से जुलूस नहीं निकालेंगे। इसी व्यवस्था का यहां पालन किया जा रहा है।

Share.

Leave A Reply

Powered by virtualconcept.in