पंजाब के नाभा जेल पर हमला, खालिस्‍तानी
पंजाब के नाभा जेल पर हमला, खालिस्‍तानी

पंजाब के नाभा जेल पर हमला, खालिस्‍तानी सरगना सहित छह कैदी फरार

0

नुक्‍कड़ टाइम्‍स ब्‍यूरा, चंडीगढ़। पंजाब के पटियाला स्थित नाभा जेल पर रविवार सुबह करीब 8:30 बजे 10 हथियारबंद बदमाश हमला कर छह कैदियों को भगा ले गए। इनमें आतंकी संगठन खालिस्तान लिबरेशन फोर्स का सरगना हरमिंदर सिंह मिंटू भी है।

हमलावर पुलिस वर्दी में थे और उनकी गोलीबारी में दो पुलिसकर्मी भी घायल हो गए। स्‍पेशल टास्‍क फोर्स (एसआईटी) ने घटना की जांच शुरू कर दी है। पंजाब सरकार ने फरार कैदियों की सूचना देने वाले को 25 लाख रुपये इनाम देने की घोषणा की है। पंजाब, हरियाणा और हिमाचल प्रदेश में अलर्ट घोषित कर दिया गया है।

100 राउंड गोलियां चलाईं

पुलिस के मुताबिक हमलावर दो गाडि़यों से आए थे। वहां तैनात सुरक्षाकर्मियों ने उन्‍हें पुलिस समझा। जेल के गेट पर पहुंचने के साथ ही उन्‍होंने एक गार्ड पर चाकू से हमला कर अंदर घुस गए। इसके बाद दूसरे गेट पर तैनात गार्ड से चाबियां छीनने के बाद ताबड़तोड़ फायरिंग करते हुए जेल के अंदर घुसे और बैरक से खूंखार आतंकी मिंटू और पांच अन्‍य कुख्‍यात अपराधियों गैंगस्‍टर विकी गोंडर, विक्रमजीत सिंह विक्‍की, नीता देओल और गुरप्रीत शेखों को लेकर फरार हो गए। बदमाशों ने 100 से अधिक राउंड गोलियां चलाईं। इस दौरान सुरक्षाकर्मियों की ओर से कोई जवाबी कार्रवाई नहीं की गई। हमलावरों के साथ तीन और गाडि़यां थीं जिनमें सभी फरार हुए।

डीजी जेल निलंबित, दो अधिकारी बर्खास्‍त

जेल पर हमले से पंजाब में हड़कंप मच गया है। पुलिस को आशंका है कि सभी हरियाणा की ओर भागे हैं। पंजाब से लगती सीमाओं पर नाकाबंदी कर वाहनों की चेकिंग की जा रही है। साथ ही, मामले की जांच के लिए एसआईटी गठित कर दी गई है। घटना के बाद पंजाब के पुलिस महानिदेशक (डीजीपी) उप मुख्यमंत्री सुखबीर सिंह बादल से मिले। इसके बाद बादल ने बताया कि डीजी (जेल) को निलंबित, जबकि नाभा जेल अधीक्षक और उपाधीक्षक को बर्खास्त कर दिया गया है।

कौन है हरमिंदर सिंह मिंटू?

खालिस्तान लिबरेशन फोर्स (KLF) का चीफ है। पैसे की उगाही, भर्ती और नफरत को फैलाने के लिए केएलएफ इंटरनेट का जमकर इस्तेमाल करता है। 47वर्षीय मिंटू को नवंबर 2014 में दिल्ली एयरपोर्ट से गिरफ्तार किया गया था। 2008 में सिरसा स्थित डेरा सच्चा सौदा प्रमुख गुरमीत राम रहीम पर हमले एवं 2010 में हलवाड़ा वायुसेना स्टेशन में विस्फोटक मिलने सहित 10 मामलों में उसकी गिरफ्तारी हुई थी।

पुलिस फायरिंग में लड़की की मौत, दो घायल

जेल ब्रेक की घटना के बाद पूरे पंजाब में नाकाबंदी की गई थी। समाना के निकट पटियाला-कैथल मार्ग पर पुलिस ने कैथल की तरफ जाने वाली एक कार को रूकने का इशारा किया। लेकिन कार चालक ने कार रोकने की बजाए नाका पार कर लिया। इसके बाद पुलिस ने कार पर फायरिंग शुरू कर दी। इस घटना में सवार 22 वर्षीया नेहा को गोली लगी और उसकी मौके पर ही मौत हो गई। नेहा पेशेवर डांसर थी और एक शादी समारोह में जा रही थी। पुलिस की गोली से नेहा के साथ बैठी एक लडक़ी और पास से गुजर रहा एक बाइक सवार भी घायल हो गए। दोनों को अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

Share.

Leave A Reply

Powered by virtualconcept.in