हरियाणा के उद्योगों में सुरक्षा मानक
हरियाणा के उद्योगों में सुरक्षा मानक

हरियाणा के उद्योगों में सुरक्षा मानक सख्‍त होंगे

0

पानीपत अग्निकांड

नुक्‍कड़ टाइम्‍स ब्‍यूरा, चंडीगढ़। पानीपत की धागा फैक्ट्री में शुक्रवार आग लगने से हुई 12 मौतों के बाद हरियाणा सरकार ने सूबे के सभी उद्योगों का सुरक्षा सर्वेक्षण कराने का फैसला किया है। इसका मकसद उद्योगों में सुरक्षा व्‍यवस्‍था को पुख्‍ता करना है। राज्‍य के अधिकांश उद्योगों में सुरक्षा नियमों का पालन नहीं किया जा रहा है।

मुख्यमंत्री मनोहरलाल खट्टर ने पानीपत के उपायुक्त से बातचीत करके पूरे घटनाक्रम की जानकारी ली है। इस बीच, पानीपत में शनिवार को दूसरे दिन भी आगजनी की घटना हुई है, जिसके कारण उद्योग विभाग तथा स्थानीय निकाय विभाग ने ठोस कदम उठाने का फैसला किया है।

उद्योगों में दशकों पुराना बुनियादी ढांचा

राज्‍य में करीब 1670 उद्योगों को लार्ज स्केल उद्योग का दर्जा मिला हुआ है। इसके अलावा 615 एक्सपोर्ट, 14, 852 सूक्ष्‍म, 6,144 लघु और करीब 500 मध्‍यम दर्जे के उद्योग चल रहे हैं। सूत्रों की मानें तो बड़े स्तर के उद्योगों को छोडकऱ अन्य किसी उद्योग में सुरक्षा के मानदंडों का पालन नहीं किया जा रहा है। विभिन्न जिलों में एमएसएमई श्रेणी के अधिकतर उद्योगों का बुनियादी ढांचा दशकों पुराना है। इस कारण आग लगने की घटनाएं होती रहती हैं। अधिकतर लघु एवं सूक्षम उद्योगों के पास फायर ब्रिगेड का नियमित अनापत्ति प्रमाण पत्र भी नहीं है।

औद्योगिक संघों की मदद लेगी सरकार

सूत्रों की मानें तो उद्योग विभाग इस मामले में औद्योगिक संगठनों की मदद भी लेने की तैयारी कर रही है। राज्य में इस समय 115 औद्योगिक संघ हैं जो उद्योग विभाग के साथ जुड़े हुए हैं। उद्योग विभाग द्वारा उद्योगों में सर्वे के लिए इन संगठनों की भी मदद ली जाएगी।

Share.

Leave A Reply

Powered by virtualconcept.in